Income Tax Planning में न करें देर, इन तरीकों से बचाएं टैक्‍स और पाएं ज्‍यादा लाभ

Income Tax : ज्‍यादातर लोग वित्त वर्ष के अंत में या जब नियोक्ता द्वारा ज्यादा Tax काटा जाता है उस महीने में टैक्स बचाने के तरीकों में निवेश करने की योजना बनाते करते हैं। Tax Planning में देरी करने से, वे आखिरकार कर-बचत के तरीकों में एकमुश्त बड़ी राशि का निवेश करते हैं और इस अवधि के दौरान नकदी संकट का सामना करते हैं। वित्त वर्ष में कमाई जाने वाली अनुमानित Income के आधार पर वर्ष की शुरुआत में व्यवस्थित रूप से नियोजन करना सबसे अच्छा तरीका है। इससे आय या लाभ का अनुमान लगाने और ऐसी Income में किसी भी उतार-चढ़ाव के साथ करों को समायोजित करने के लिए पर्याप्त समय मिलेगा।

Tax planning शुरू करने का सबसे अच्छा तरीका अपनी व्यक्तिगत स्थिति में किसी भी बदलाव की पहचान करना है जो आपके दिए जाने वाले टैक्स को प्रभावित कर सकती है। नौकरी में बदलाव, अधिक आय, उम्र में वृद्धि, घर बेचने या नए घर के लिए होम लोन का लाभ उठाने से आपके करों पर असर पड़ने की संभावना है। साथ ही, सरकार द्वारा घोषित टैक्स कानूनों में कोई भी बदलाव आपके करों पर सकारात्मक या नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। यदि आपने अपने टैक्स की योजना जल्दी बना ली है, तो आपके लिए ऊपर बताए गए कारणों का समायोजन करना मुश्किल नहीं होगा। अन्यथा, Tax की बड़ी देनदारियां आपकी गाढ़ी कमाई को खा जाएंगी।

Financial Year की शुरुआत में अपनी कर देयता की गणना कैसे करें?

एक आसान तरीका यह है कि अपने पिछले Year की Income और खर्चों को मौजूदा साल के अनुमानित आंकड़ों के साथ-साथ नोट किया जाए। उसके बाद, आपकी आय जिस कम सीमा पर आती है, उसके आधार पर अपनी अनुमानित कर योग्य Income पर अपनी कर देयता की गणना कर सकते हैं।

Income Tax
Income Tax

उदाहरण के लिए, यदि आपकी कर योग्य आय पिछले वित्त वर्ष में 9.5 लाख रुपये थी और आप चालू वित्त वर्ष में अपनी आय में 20% की वृद्धि का अनुमान लगा रहे हैं। यहां 2 Years के लिए आपकी कर देयता इस प्रकार होगी।

विवरण रकम

  • पिछले वित्त Year की कर योग्य आय 9.5 lakh रुपये
  • ऐसी आय पर कर देयता 1.05 लाख रुपये
  • 20% की वृद्धि के साथ अनुमानित कर योग्य आय 11.4 लाख रुपये
  • ऐसी अनुमानित Income पर कर देयता 1.59 Lakh रुपये

अब जबकि आपने अपने Tax की गणना कर ली है, तो आपके लिए यह जानना आसान होगा कि ज्यादा से ज्यादा राशि पर Tax को बचाने के लिए आपको कितना Invest करना होगा।

टैक्‍स प्‍लानिंग के लाभ

Tax Saving के सही तरीके चुनें और चक्रवृद्धि का फायदा उठाएं: टैक्स बचाते समय, आपको सिर्फ अपना टैक्‍स ही कम नहीं करना है। अपने टैक्स की Yojana को निवेश की योजनाओं के साथ मिलाना भी ज़रूरी है। इससे आपको दीर्घकालिक संपत्ति बनाने में मदद मिलेगी और आपका टैक्स भी बचेगा।Tax बचाने के विभिन्न विकल्प हैं जहां आप निवेश कर सकते और Tax बचा सकते हैं, लेकिन सबसे कुशल वे विकल्प हैं जो आपको वित्तीय सुरक्षा भी देते हैं। इसलिए, यदि आप जल्दी निवेश करना शुरू करते हैं, तो आप अपने Tax को उसके अनुसार बचा सकते हैं और फिर से उसका निवेश कर सकते हैं। दोबारा निवेश की गई राशि चक्रवृद्धि की ताकत से बढ़ते हुए समय के साथ बड़ी रकम बन जाती है।

Income Tax
Income Tax

नियमित और व्यवस्थित निवेश Tax की असमान कटौती को कम करेगा: अपने टैक्स की योजना बनाने का मुख्य उद्देश्य वित्त वर्ष के अंत में टैक्स की एकमुश्त राशि देने से बचना है। इससे बचने का सबसे Best तरीका है कि आप उस वर्ष के लिए अपनी कर देयता की गणना करें और फिर अपनी मेहनत से कमाए गए धन को मासिक रूप से निवेश करें। इससे मासिक आधार पर स्रोत पर आपकी कर कटौती कम होगी और आपकी कुल आय बढ़ाने में मदद मिलेगी। यदि आप अंतिम मिनट की प्रतीक्षा करते हैं और वर्ष के अंत में एकमुश्त निवेश करते हैं, तो अंत में स्रोत पर कर की एक बड़ी राशि काट ली जाएगी। इससे आप वित्तीय संकट में भी पड़ सकते हैं। एक नियमित और व्यवस्थित Invest आपको अंत में भारी Tax का भुगतान करने से बचाएगा।

टैक्स बचाने के सभी उपलब्ध Options को समझें और अधिकतम बचत करें: करदाताओं के लिए टैक्स बचाने के कई Option उपलब्ध हैं। अपनी टैक्स बचत को बढ़ावा देने के लिए सभी Options को देखना और तुलना करना आपके लिए फायदेमंद है।

पहला और सबसे महत्वपूर्ण विकल्प आयकर अधिनियम के अध्याय 6-ए का अनुच्छेद 80सी है। आप पीपीएफ, एनएससी, पांच साल के सावधि जमा, जीवन बीमा के प्रीमियम के भुगतान, टैक्स बचाने वाले म्युचुअल फंडों में निवेश कर सकते हैं और एक साल में 1.5 लाख रुपये तक की कटौती का लाभ पा सकते हैं। इन निवेशों के साथ, आप अनुच्छेद 80सी के तहत बच्चों के Education Fees , होम लोन के पुनर्भुगतान जैसे विभिन्न खर्चों का भी दावा कर सकते हैं।

इसी तरह, आप स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम के भुगतान के लिए एक financial years में 25,000 रुपये तक की कटौती का दावा कर सकते हैं। अनुच्छेद 80सी के 1.5 लाख रुपये के अलावा, आप राष्ट्रीय पेंशन योजना (एनपीएस) में निवेश कर सकते हैं और अनुच्छेद 80सीसीडी के तहत 50,000 रुपये तक की कटौती का दावा कर सकते हैं। निर्दिष्ट फंड या धर्मार्थ ट्रस्टों को किए गए किसी भी दान का दावा पूरी तरह से या आंशिक रूप से अनुच्छेद 80जी के तहत किया जा सकता है। कई अन्य रास्ते हैं जैसे कि अनुच्छेद 80ईई के तहत शिक्षा ऋण पर दिए गए ब्याज की कटौती, अनुच्छेद 80टीटीए के तहत बचत खाते पर अर्जित ब्याज में कटौती आदि।

आप एक स्व-अधिकृत संपत्ति के लिए हो लोन पर एक वित्‍त वर्ष के दौरान अधिकतम 2 Lakh रुपये तक के ब्याज का दावा भी कर सकते हैं। वर्ष की शुरुआत में सभी उपर्युक्त तरीकों को जानने और समझने से आप अपने Tax में बड़े भुगतान की बचत कर सकते हैं।

विवेकपूर्ण तरीके से अपने Taxs की Yojana कैसे बनाएं?

चरण 1: आयकर अधिनियम, 1961 की विभिन्न धाराओं के तहत उपलब्ध सभी तरीकों को पहचानें और तुलना करें।

चरण 2: Tax Saving के अपने लक्ष्यों को अपने विशिष्ट दीर्घकालिक लक्ष्यों जैसे शादी, बच्चों की शिक्षा के साथ अलाइन करें।

चरण 3: अपनी जोखिम की क्षमता के आधार पर तरीके चुनें और Invest करें। उदाहरण के लिए, अपने करियर के प्रारंभिक चरण में या उच्च आय संरचना वाला एक व्यक्ति ज्यादा जोखिम लेने के लिए तैयार होता है। वह अपने Invest का 80% से अधिक Tax बचाने वाले म्युचुअल फंड, यूलिप या एनपीएस जैसे बाज़ार से जुड़े विकल्पों में लगा सकता है।

चरण 4: एकमुश्त invest से बचें और व्यवस्थित Invest योजना की ओर बढ़ें। यह आपको वर्ष के मध्य में नकदी संकट से बचाएगा।

हालांकि, इस financial years का आधा समय बीत चुका है, फिर भी आप अपने टैक्स की योजना बना सकते हैं और यह देख सकते हैं कि आप कहां खड़े हैं और शेष Year के लिए क्या समायोजन किया जा सकता है। यदि आप अंतिम समय में Tax की योजना बनाने का इंतज़ार करते हैं, तो आप कम बचत के साथ ऐसा निवेश कर सकते हैं जो ज्‍यादा फायदे का सौदा न हो। यदि आपने पहले ही Tax Planning कर ली है, तो अपनी योजना को फिर से देखना और यह जांचना बेहतर है कि आप Tax Saving के सही रास्ते पर हैं या नहीं।

Check Latest Post  jammu kashmir Postpaid Mobile Services: कश्मीर में पोस्टपेड मोबाइल सेवाएं बहाल, 40 लाख मोबाइल में गूंजेगा.. हैलो

Recent Articles

Chandrayaan 2 के आर्बिटर को मिली चंद्रमा के बाहरी वातावरण में बड़ी कामयाबी, जानिए उस बारे में

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के chandrayaan 2 के विक्रम आर्बिटर से संपर्क ना होने की परेशानी भले ही ना दूर हुई हो, लेकिन...

Jharkhand Election Dates 2019 : झारखंड में 30 नवंबर से पांच चरणों में चुनाव, 23 दिसंबर को मतगणना

Jharkhand Election Dates 2019 निर्वाचन आयोग गुरुवार को झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 की तिथियों का एलान कर दिया है। हाल ही में केंद्र की...

पाकिस्‍तान पर लटकी FATF की तलवार से तिलमिलाया है चीन, ये हैं इसकी अहम वजह

FATF : पेरिस में 13-18 अक्‍टूबर 2019 के बीच हुई एफएटीएफ (Financial Action Task Force/FATF) की बैठक में Pakistan को फरवरी 2020 तक के...

MakeMyTrip-GoIbibo और Oyo के खिलाफ CCI ने दिया जांच का आदेश

MakeMyTrip-GoIbibo And Oyo : Competition Commission of India (सीसीआइ) ने ऑनलाइन ट्रैवल प्लेटफॉर्म मेकमायटिप-गोआइबिबो (एमएमटी-गो) और एप आधारित होटल सर्विस कंपनी ओयो के खिलाफ...

Shakib Al Hasan के क्रिकेट खेलने पर लग सकता है प्रतिबंध, ICC से छुपाई ‘फिक्सिंग ऑफर’ की बात -रिपोर्ट्स

Bangladesh क्रिकेट टीम के स्टार ऑलराउंडर और कप्तान शाकिब अल हसन पर प्रतिबंध का खतरा मंडरा रहा है। टी20 और टेस्ट टीम के कप्तान...

Related Stories

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay on op - Ge the daily news in your inbox